Press Release

प्रतिभावान खिलाड़ियों के लिए 24 अगस्त से पूरे प्रदेश में चलाया जाएगा प्रतिभा चयन कार्यक्रम -खेल संचालक



View



संचालनालय खेल और युवा कल्याण, म.प्र.

तात्या टोपे राज्य खेल परिसर, भोपाल

समाचार

प्रतिभावान खिलाड़ियों के लिए 24 अगस्त से पूरे प्रदेश में चलाया जाएगा प्रतिभा चयन कार्यक्रम -खेल संचालक

वीडियों कांफ्रेस में खेल, स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश

भोपाल, दिनांक 14 अगस्त, 2021

संचालक खेल और युवा कल्याण श्री पवन जैन ने कहा है कि मध्य प्रदेश में खेल प्रतिभाओं को तलाशने के लिए पूरे प्रदेश में प्रतिभा चयन कार्यक्रम (टेलेंट सर्च) अभियान के रूप में चलाया जाएगा। खेल संचालक आज वीडियो कांफ्रेंसिंग में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।

टैलेंट सर्च के संबंध में आज टी.टी. नगर स्टेडियम के सभागार में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग आयोजित की गई जिसमें संचालक खेल और युवा कल्याण श्री पवन जैन ने प्रतिभा चयन कार्यक्रम के संबंध में अधिकारियों को जरुरी दिशा-निर्देश दिए। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में आदिम जाति विभाग की डिप्टी कमिश्नर सुश्री रीता सिंह, स्कूल शिक्षा विभाग के उप संचालक श्री आलोक खरे और संयुक्त संचालक खेल डॉ. विनोद प्रधान ने भी अधिकारियों का मार्गदर्शन किया। वीडियो कांफ्रेंस में प्रदेश के सभी जिला खेल अधिकारी, स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विभाग के अधिकारी शामिल हुए।

खेल प्रतिभाओं को खोजने के लिए प्रदेश में व्यापक अभियान

खेल संचालक श्री पवन जैन ने बताया कि शहरों के साथ ही ग्रामीण और कस्बाई इलाकों में भविष्य की खेल प्रतिभाओं को तलाशकर तराशने के लिए मध्यप्रदेश में ‘‘टेलेंट सर्च 2021’’ नाम से व्यापक अभियान प्रारंभ किया गया है। इसके तहत कम से कम 2,500 बालक-बालिकाओं का चयन कर उन्हें अत्याधुनिक संसाधनों और प्रशिक्षकों की मौजूदगी में खेल विभाग द्वारा संचालित अकादमियों में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

अभियान के तहत चयनित खिलाड़ी लगभग 80 प्रतिशत राज्य के और शेष 20 प्रतिशत अन्य राज्यों के होंगे। अन्य राज्यों के खिलाड़ियों का चयन वरीयता (मेरिट) के आधार भी किया जाता है। इस अभियान में खेल एवं युवा कल्याण विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग और आदिम जाति कल्याण विभाग की मदद से कार्य कर रहा है। अभियान के तहत 18 खेलों में श्रेष्ठ प्रशिक्षण के जरिए भविष्य के खेल सितारे तैयार करने के लिए 12 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बालक-बालिकाओं का चयन सभी 52 जिलों से किया जाएगा। विशेष उपलब्धि हासिल करने के मामलों में खिलाड़ियों की उम्र 18 वर्ष से अधिक की भी हो सकती है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में खेल संचालक ने बताया कि प्रतिभा चयन कार्यक्रम के तहत पंजीयन (रजिस्ट्रेशन) का कार्य 09 अगस्त को प्रारंभ हुआ है, जो 21 अगस्त तक चलेगा। पंजीयन ऑनलाइन किया जा रहा है, लेकिन विशेष मामलों में ऑफलाइन भी किया जा सकेगा। प्रतिभावान खिलाड़ी एथलेटिक्स, शूटिंग, वॉटर स्पोर्ट्स (कयाकिंग-केनोइंग, रोइंग, सेलिंग, स्लालॉम), कराते, फेंसिंग, बॉक्सिंग, कुश्ती, ताइक्वांडो, जूडो, घुड़सवारी, पुरुष हॉकी, ट्रायथलान, महिला हॉकी, बेडमिंटन, तीरंदाजी, पुरुष क्रिकेट, योग और मलखंभ में अपना भविष्य बनाने के लिए इस अभियान में शामिल हो सकेंगे। चयन की प्रक्रिया निर्धारित मापदंडों के अनुरूप और कोविड संबंधी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए की जा रही है। पंजीयन के बाद 24 अगस्त से चयन प्रक्रिया शुरू होगी और यह जिला, संभाग और फिर राज्य स्तर पर होेगी। माना जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर संबंधी कोई समस्या नहीं आयी, तो पूरी प्रक्रिया 15 सितंबर तक पूरी कर ली जाएगी। अभियान के तहत अब तक 14 हजार पंजीयन हो चुके हैं और माना जा रहा है कि यह संख्या 50 हजार तक पहुंच जाएगी।

खेल संचालक श्री जैन ने खेलों में कैरियर का उल्लेख करते हुए बताया कि विक्रम पुरस्कार प्राप्त खिलाड़ियों को शासकीय सेवा में नियुक्ति प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा कि हाल ही में संपन्न टोक्यो ओलंपिक खेलों में मध्यप्रदेश की हॉकी अकादमी से जुड़े दो खिलाड़ी विवेक सागर और नीलाकांता तथा महिला हॉकी में पांच खिलाड़ियों के अलावा शूटिंग में भी इस राज्य के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व कर शानदार प्रदर्शन किया है। मध्य प्रदेश निवासी विवेक सागर को तो राज्य सरकार ने एक करोड़ रुपयों की धनराशि के अलावा उप पुलिस अधीक्षक (डीएसपी) पद पर पदस्थ किया है। महिला हॉकी राष्ट्रीय टीम की सदस्यों को भी 31-31 लाख रुपए देने का ऐलान किया है। श्री जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री मान. श्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में निर्देश दिए हैं कि राज्य में खेल प्रतिभाओं को तलाशने और तराशने का कार्य और बेहतर ढंग से किया जाए। राज्य सरकार इस कार्य में धन और संसाधनों की कमी आड़े नहीं आने देगी। इसके मद्देनजर खेल एवं युवा कल्याण विभाग प्रतिभाओं को तलाशने पर और विशेष ध्यान देकर कार्य कर रहा है। इस अभियान के तहत कम से कम 2500 खिलाड़ियों का चयन किया जाएगा और उन्हें अनेक सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

अधिकारियो को दिशा-निर्देश

जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारियों (डीएसओ) को उनके जिले में रजिस्टर हो रहे खिलाड़ियों की संख्या देखने के लिये पृथक से आई.डी. उपलब्ध कराई जा रही है।

खिलाड़ियों के आनलाईन रजिस्ट्रेशन के उपरान्त उन्हें किस दिनांक को जिला मुख्यालय पर फिजिकल फिटनेस टेस्ट देने आना है, इसकी उन्हें एस.एम.एस.द्वारा सूचना दी जायेगी। डीएसओ को अवगत कराना होगा कि उस खिलाड़ी का जिला मुख्यालय पर किस ग्राउण्ड में फिजिकल फिटनेस टेस्ट होगा। खिलाड़ी को स्थान की जानकारी मुख्यालय स्तर से दी जाये ताकि यदि कोई खिलाड़ी कॉल सेंटर को फोन लगाये तो उनके पास यह जानकारी होना चाहिए कि जिले में टेलेन्ट सर्च कहां हो रहा है। डीएसओ को प्रतिदिन लगभग 100 खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट करना है। अतः उक्त दिवसों में 01 दिवस पूर्व मैदानी व्यवस्था पूर्ण कर ली जावे।

मैदान में आवश्यकतानुसार टेन्ट, लाईट, माईक, टेबल-कुर्सी, चिकित्सा एवं आयोजन स्थल पर पेयजल सहित अन्य व्यवस्था की जाए।

स्कूल शिक्षा और आदिम जाति कल्याण विभाग के सहयोग से ब्लाक से जिला स्तर तक खिलाड़ियों के आने-जाने एवं भोजन की व्यवस्था की जाएगी। फिजिकल फिटनेस टेस्ट के परिणाम को तत्काल माईक्रोसॉफ्ट एक्सेल में दर्ज कर उसी दिन मुख्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जावेगा। (एक्सेल शीट की डिटेल मुख्यालय स्तर से उपलब्ध कराई जावेगी)।

फिजिकल फिटनेस टेस्ट के परिणामों के आधार पर मुख्यालय स्तर से खेल अकादमियों में उपलब्ध रिक्त सीट के निर्धारित अनुपात अनुसार मेरिट लिस्ट तैयार की जावेगी जिसके अनुसार खेलवार खिलाड़ियों को संभाग स्तर पर स्किल टेस्ट के लिये बुलवाया जायेगा। अधिकृत राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के प्रतिभागी एवं पदक विजेता खिलाड़ी एवं अकादमी के पूर्व में प्रवेशित ऐसे खिलाड़ी जिन्हें वर्तमान में प्रथम एवं द्वितीय चरण में नहीं बुलाया गया है। ऐसे खिलाड़ी संभाग स्तर पर स्किल टेस्ट के लिये सीधे पात्र होंगे। ऐसे खिलाड़ियों के लिये आयु में बाध्यता नहीं होगी। जिला स्तर पर कुछ खिलाड़ी ऐसे भी आ सकते हैं, जिन्होंने ऑन लाईन रजिस्ट्रेशन फार्म नहीं भरा है, ऐसे खिलाड़ियों का स्थल पर रजिस्ट्रेशन कराने का दायित्व डीएसओ का होगा। टेलेन्ट सर्च के समय वर्षा के कारण मैदान इस लायक न रहे जहां 50 मी. एवं 600 मी. रन न हो पाये ऐसी स्थिति में दूसरा विकल्प रखना होगा ताकि शेष टेस्ट इण्डोर में करवा लिये जायें। यदि वर्षा समाप्त हो जाये तो उसी दिन 50 मी. एवं 600 मी. रन करवा लिया जाये अन्यथा इन दो टेस्ट के लिये आगामी कोई दिवस सुनिश्चित किया जाये।

हॉकी खेल की चयन ट्रॉयल

हॉकी का सेलेक्शन ट्रॉयल 08 जोेन-ग्वालियर, शिवपुरी, जबलपुर, दमोह, इन्दौर, मंदसौर, होशंगाबाद एवं भोपाल में किया जावेगा, जिसमें प्रदेश में चल रहे हॉकी फीडर सेंटर के खिलाड़ियों एवं अन्य खिलाड़ियों को टेलेन्ट सर्च के लिये आमंत्रित किया जावेगा। यह टेलेन्ट सर्च 24 अगस्त, 2021 से प्रारंभ किया जा सकता है। जिन जिलों में हॉकी के फीडर सेंटर चल रहे हैं उनके जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी फीडर सेंटर के इच्छुक खिलाड़ियों का 18 अगस्त के पूर्व रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करें। जोन अनुसार तिथियाँ मुख्य प्रशिक्षकों से चर्चा अनुसार तय की जावेगी।

जोन का चयन इस आधार पर किया गया है जहां हॉकी के एस्ट्रोटर्फ उपलब्ध हैं।

जोनवार इन जिलों के प्रतिभागी भाग लेंगे

01 ग्वालियरः- राज्य महिला हॉकी खेल परिसर ग्वालियर, मुरैना एवं ग्वालियर

02 शिवपुरीः- शिवपुरी खेल परिसर, गुना एवं शिवपुरी

03 जबलपुरः- रानीताल स्टेडियम जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट एवं उमरिया

04 दमोहः- हॉकी टर्फ स्टेडियम दमोह, सागर, छतरपुर एवं सतना

05 इन्दौरः- एम्ब्रॉड हायर सेकेण्ड्री स्कूल इन्दौर, धार, बड़वानी एवं खरगोन।

06 मंदसौरः- हॉकी टर्फ स्टेडियम मंदसौर, उज्जैन, शाजापुर, देवास, रतलाम एवं नीमच

07 होशंगाबादः- हॉकी टर्फ स्टेडियम होशंगाबाद, बैतूल, हरदा एवं रायसेन

08 भोपालः- मेजर ध्यानचंद हॉकी स्टेडियम सी.आर.सी. परिसर,भोपाल, सीहोर, राजगढ़ एवं विदिशा।

महिला एवं पुरूष हॉकी अकादमी में उपलब्ध रिक्त सीट से 3 गुना खिलाड़ियों का चयन 8 जोन के खिलाड़ियों से किया जावेगा। इनका राज्य स्तर पर आवश्यकतानुसार 7 से 10 दिवस का कैम्प लगाकर अंतिम चयन किया जावेगा। राज्य स्तर पर महिला हॉकी खिलाड़ियों के चयन का कैम्प ग्वालियर एवं पुरूष हॉकी खिलाड़ियों के चयन का कैम्प भोपाल में सितम्बर प्रथम सप्ताह में आयोजित किया जावेगा।

कुश्ती खेल की चयन ट्रॉयल

इस वर्ष का टेलेन्ट सर्च का आयोजन प्रदेश के उन जिलों में किया जायेगा, जहां कुश्ती खेल प्रचलन में है।

टेलेन्ट सर्च में प्रदेश के उन्ही खिलाड़ियों को शामिल किया जायेगा, जिन्होंने कम से कम अधिकृत राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में प्रतिभागिता की हो। इस वर्ष के टेलेन्ट सर्च में कुश्ती अकादमी में कुल सीट का 20 प्रतिशत प्रदेश के बाहर के विगत दो वर्ष के पदक विजेता सब जूनियर, जूनियर खिलाड़ियों को शामिल किया जावेगा।

यह टेलेन्ट सर्च प्रदेश के मुख्यतः इन्दौर, उज्जैन, ग्वालियर, जबलपुर, सागर एवं भोपाल संभाग में किया जावेगा क्योंकि इन संभागों के जिलों में कुश्ती के खिलाड़ियों की अधिकता है। शेष ऐसे संभागों के जिलों के कुश्ती खिलाड़ी जिनके संभाग स्तरीय चयन ट्रॉयल उनके संभाग में नहीं हो रहा हो वह अपनी सुविधानुसार निकटतम संभाग में आयोजित हो रही चयन ट्रॉयल में शामिल हो सकते हैं। रजिस्ट्रेशन उपरान्त संबंधित जिले में इनका फिजिकल फिटनेस टेस्ट निर्धारित तिथि पर किया जावेगा। इसके पश्चात संभाग स्तरीय चयन उपरोक्तानुसार 06 संभागों में किया जावेगा।

कुश्ती अकादमी की उपलब्ध रिक्त सीट के विरूद्ध 4 गुना खिलाड़ियों का चयन राज्य स्तरीय शिविर के लिये किया जावेगा। यह शिविर लगभग 05 दिवस का लगाया जा सकता है।

---------------



महेन्द्र व्यास,

जनसम्पर्क अधिकारी