Press Release

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिला हॉकी खिलाड़ियों को 31-31 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि से किया सम्मानित



View



संचालनालय खेल और युवा कल्याण, म.प्र.

तात्या टोपे राज्य खेल परिसर, भोपाल

समाचार

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिला हॉकी खिलाड़ियों को 31-31 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि से किया सम्मानित

----

खेल मंत्री मान.यशोधरा राजे सिंधिया ने विश्व स्तरीय अधोसंरचना, उत्कृष्ट प्रशिक्षण और सशक्त नेतृत्व को बताया मप्र की सफलता का आधार

----

आईओए अध्यक्ष नरिंदर ध्रुव बत्रा ने मध्यप्रदेश हॉकी अकादमी को बताया भारतीय हॉकी के लिए बड़ा सपोर्ट



भोपाल, दिनांक 28 सितम्बर, 2021

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने वादे के मुताबिक टोक्यो ओलंपिक-2020 कि भारतीय महिला टीम के खिलाड़ियों को मंगलवार को मिंटो हाल में आयोजित गरिमामय सम्मान समारोह में 31-31 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने भारतीय हॉकी और अन्य खेलों को आगे बढ़ाने के लिए हरसंभव मदद का वादा भी किया। खेल मंत्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया ने अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ और भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष श्री नरिंदर ध्रुव बत्रा का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश हॉकी सहित किसी भी खेल आयोजन के लिए हमेशा तैयार है। इस अवसर पर श्री बत्रा ने मध्यप्रदेश की खेल संरचना और यहां की सुविधाओं की प्रशंसा की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सबसे पहले खिलाड़ी बेटियों और आईओए अध्यक्ष श्री बत्रा का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारी बेटियों ने हॉकी में कमाल कर दिया। हमारी टीम भले ही चौथे स्थान पर रही, लेकिन उनका प्रदर्शन देश को गौरवान्वित करने वाला रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जब मैं मैच देख रहा था और आपकी आंखों में आंसू देखे तभी मैंने तय कर लिया था कि इन बेटियों को भोपाल में लाकर सम्मानित करूंगा। आज हमारे लिए यह गर्व की बात है कि आईओए अध्यक्ष श्री बत्रा के विशिष्ट आतिथ्य में आप सभी का सम्मान करने को मिला। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश एक समय बीमारू राज्य कहा जाता था, लेकिन अब यह विकसित होता जा रहा है। खेलों में मध्यप्रदेश शीर्ष राज्यों में आ गया है। हमारे पास ऐसी खेलमंत्री है जो अंगूठी में नगीने जैसी है। उनकी प्रदेश के खेलों को आगे बढ़ाने की जीवटता देखते ही बनती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि श्री बत्रा जी ने मध्यप्रदेश में खेलों की उपलब्धियों को देखा ही है। हमने खेलो इंडिया की मेजबानी मांगी है और अब हम राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी भी करने को तैयार है। आप हमें बताते जाए और मध्यप्रदेश आपके साथ है। खेलों में किसी भी चीज की मदद के लिए मध्यप्रदेश सरकार कमी नहीं आने देगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हॉकी की बेटियों के बारे में बताया कि वे किन परिस्थिितियों से दो-चार होकर इस मुकाम पर पहुंची है। हमारी बेटियां इन विषम परिस्थितियों से लड़कर ओलंपिक में परचम फहराकर आई है। श्री चौहान ने कहा कि मैं आप सभी के जज्बे का स्वागत करता हूं। आपके जज्बे, समर्पण, देशभक्ति और जीवटता से देश गौरवान्वित हुआ है। आज आपके प्रदर्शन से लोगों ने अपने बच्चों को खेलों में भेजना शुरू कर दिया है। यह दृष्टिकोण आपकी वजह से ही बदला है।

लीडरशिप ने दी हॉकी को बड़ी उपलब्धि: खेलमंत्री सिंधिया

खेलमंत्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री का खेलों के प्रति प्रेम ही रहा है कि मध्यप्रदेश में महिला हॉकी अकादमी की स्थापना हो सकी। हमारी अकादमी में विश्व स्तरीय सुविधाएं हैं और खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में प्रतिनिधित्व कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारी खिलाड़ियों ने साबित कर दिखाया कि कड़ी मेहनत और लगन से इस मुकाम पर पहुंचा जा सकता हैं। इन सभी के पीछे एक लीडरशिप काम करती है और वह टीम की कप्तान सुश्री रानी रामपाल ने कर दिखाई। वैसी ही लीडरशिप मध्यप्रदेश सरकार में हमारे मुख्यमं़त्री माननीय शिवराज सिंह जी की है। उनके नेतृत्व में ही मध्यप्रदेश ने खेलों में नया मुकाम हासिल किया है। मुझे उम्मीद है कि हमारी हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में जिस तरह से प्रदर्शन किया है उससे आने वाले ओलंपिक में पदक जीतने की संभावनाएं बढ़ गई है। खेलमंत्री सिंधिया ने कहा कि भारतीय खेलों में माननीय बत्रा जी की लीडरशिप में देश ने ओलंपिक में रिकॉर्ड 7 पदक जीते। यह उनकी लीडरशिप और दूरदर्शिता का ही कमाल है। मध्यप्रदेश हमेशा से हॉकी का गढ़ रहा है। भोपाल हॉकी की नर्सरी रहा है। हमारे पास पूरे प्रदेश में 11 एस्ट्रो टर्फ है एवं चार और तैयार होने वाले हैं। हमारे पास पूरे प्रदेश में 29 हॉकी फीडर सेंटर हैं, जहां बच्चे अभ्यास करते हैं। इन्हीं फीडर सेंटर से आने वाले समय में और भी खिलाड़ी देश को मिलेंगे। मध्यप्रदेश हॉकी की किसी भी स्तर की मेजबानी के लिए हमेशा तैयार है।

मप्र हॉकी अकादमी हमारे लिए बड़ा सपोर्ट: श्री बत्रा

आईओए अध्यक्ष श्री बत्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश में खेलों को भरपूर बढ़ावा दिया जा रहा है। यहां विशेष रूप से महिला खिलाड़ियों को खेलों में बढ़ावा दिए जाने के लिए जिस तरह के प्रयास किए जा रहे हैं वे सराहनीय है। इसके लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान तथा खेल मं़त्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया और उनकी पूरी टीम बधाई की पात्र है। मध्यप्रदेश सरकार ने हमें वादा किया है कि महिला खेलों पर काम करेंगे। मप्र में लंबे समय तक खेलों के अभ्यास के लिए शिविर के आयोजन का भी प्रस्ताव दिया है। हम निकट भविष्य में इन संभावनाओं पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मप्र में सभी खेलों में अपार संभावनाएं हैं। मप्र हॉकी अकादमी हमारे लिए एक बड़ा सपोर्ट का काम कर रही है। यहां से हमें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी मिल रहे हैं। यह हमारे लिए गर्व का विषय है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और खेलमंत्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया का खेलों के प्रति प्रेम हमने देखा है। इसके लिए मप्र सरकार और खेल विभाग की पूरी टीम प्रशंसा की पात्र है। उन्होंने सम्मान समारोह के बारे में कहा कि खिलाड़ी अपने खेल के बदले यही सम्मान चाहता है, जो मप्र सरकार कर रही है। यह उनके मनोबल को बढ़ाता है। पुरूष हॉकी टीम के खिलाड़ी मप्र के विवेक सागर प्रसाद को सरकार ने जिस तरह से प्रोत्साहित किया वह देश भर के लिए मिसाल है। मैं मप्र सरकार का आभारी हूं।

मप्र हॉकी अकादमी ने देश में उदाहरण स्थापित किया: सुश्री रानी रामपाल

टोक्यो ओलंपिक में अपने नेतृत्व में टीम को सेमीफाइनल तक पहुंचाने वाली सुश्री रानी रामपाल ने कहा कि मध्यप्रदेश की हॉकी अकादमी ने देश में एक उदाहरण स्थापित किया है। यह अकादमी विश्व स्तरीय है और सभी सुविधाएं भी यहां मौजूद है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और खेलमंत्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया जी ने मप्र के खेलों को नई दिशा दी है। मुख्यमंत्री जी महिला खिलाड़ियों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। मध्यप्रदेश में खेलमंत्री एक महिला है और उनका खेलों के प्रति विजन वाकई लाजवाब है। उनकी दूरदर्शिता ही मप्र के खेलों को आगे बढ़ा रही है। टोक्यो ओलंपिक के अनुभव को शेयर करते हुए सुश्री रानी ने कहा कि एक समय था जब भारतीय टीम दूसरी टीमों से खेलती थी तो एक डर मन में रहता था। अब वह डर नहीं रहा। हमने लास्ट के तीन मैचों में एक ही लक्ष्य रखा था आखिरी पलों तक लड़ना है। हमने इसी पर काम किया और सफलता हासिल की। उन्होंने कहा कि शायद इसी बात को देखकर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने हमें आज यहां बुलाया है।

संचालक खेल ने किया आभार व्यक्त

संचालक खेल और युवा कल्याण श्री रवि कुमार गुप्ता ने समारोह में उपस्थित सभी अतिथियों और महिला टीम का आभार व्यक्त किया। उन्होंने मध्यप्रदेश के खेलों के बारे में जानकारी भी दी।

मप्र ओलंपिक संघ के पदाधिकारी रहे मंचासीन

सम्मान समारोह में मप्र ओलंपिक संघ के अध्यक्ष श्री रमेश मेंदोला, सचिव श्री दिग्विजय सिंह, हॉकी इंडिया के अध्यक्ष राजिंदर सिंह, हॉकी इंडिया की सीईओ एलीना नॉर्मन एवं हॉकी टीम की सभी सदस्य मंचासीन रहे।

श्री बत्रा ने भेंट किए स्मृति चिह्न

आईओए के अध्यक्ष श्री नरिंदर ध्रुव बत्रा ने सम्मान समारोह के अंत में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, खेलमं़त्री मान. यशोधरा राजे सिंधिया को स्मृति चिह्न प्रदान किए।

हॉकी टीम ने मुख्यमंत्री को भेंट की टी-शर्ट

भारतीय महिला हॉकी टीम ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सभी खिलाड़ियों की हस्ताक्षर की हुई टी-शर्ट भेंट की। इस दौरान खेलमंत्री यशोधरा राजे सिंधिया विशेष रूप से उपस्थित रही। सम्मान समारोह की शुरूआत वंदे मातरम् और मप्र गान का गायन सुश्री सुहासिनी जोशी ने किया।

मुख्यमंत्री ने अपने निवास पर किया लंच का आयोजन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भारतीय महिला खिलाड़ियों के लिए के लिए अपने निवास पर दोपहर भोजन का आयोजन किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने महिला हॉकी टीम की सदस्यों के साथ स्मार्ट सिटी क्षेत्र में पौधरोपण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान प्रतिदिन एक पौधा रोपते हैं। इसी क्रम में मंगलवार को उन्होंने महिला टीम की खिलाड़ियों के साथ पीपल का पौधा लगाया।

एनआईसी के माध्यम से प्रदेशभर में प्रसारण

भारतीय महिला हॉकी टीम के सम्मान समारोह का सीधा प्रसारण एनआईसी के माध्यम से मध्यप्रदेश के सभी जिलों में किया गया। इस दौरान जिला स्तर पर सभी जिला खेल अधिकारी और जिले के प्रमुख खिलाड़ी भी उपस्थित रहे।

आईओए अध्यक्ष श्री बत्रा का भव्य स्वागत

भारतीय ओलंपिक संघ आईओए के अध्यक्ष श्री नरिंदर ध्रुव बत्रा का सुबह भोपाल विमानतल पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया। संचालक खेल और युवा कल्याण श्री रवि कुमार गुप्ता ने पुष्पगुच्छ भेंट कर उनका आत्मीय स्वागत किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में खिलाड़ी एवं खेल संघों के पदाधिकारी मौजूद रहे।

--------

प्रभारी

प्रचार प्रसार