DSYWMP News and Events

28वीं राष्ट्रीय केनो स्प्रिंट चैम्पियनशिप में वाटर स्पोर्टस अकादमी के खिलाड़ियों ने मध्यप्रदेश को दिलाये 6 स्वर्ण और 4 रजत पदक


राजधानी स्थित छोटी झील पर खेली जा रही 28वीं राष्ट्रीय केनो स्प्रिन्ट चैम्पियनशिप में वाटर स्पोर्टस अकादमी की खिलाड़ियों ने आज भी शानदार प्रदर्शन करते हुए छह स्वर्ण और चार रजत पदक मध्यप्रदेश को दिलाये।
इन्हें मिलाकर अकादमी के खिलाड़ियों द्वारा अर्जित पदकों की संख्या 10 स्वर्ण और 5 रजत के साथ 15 पदक पर पहुंच गई ।
चैम्पियनशिप के अंतर्गत आज खेले गए एक हजार मीटर रैस के अंतर्गत सी-1 वुमेन, के-2 सब जूनियर मेन्स, के-4 जूनियर मेन्स, सी-4 वुमेन, के-4 जूनियर मेन्स और के-4 वुमेन ईवेंट के मुकाबलों में अकादमी के खिलाडियों ने स्वर्णिम सफलता हासिल करते हुये छह स्वर्ण तथा के-1 मेन्स एवं वूमेन, सी-2 जूनियर मेन्स तथा के-4 मेन्स इवेंट में चार रजत पदक मध्यप्रदेश को दिलाये।
आज खेली गई बालिका वर्ग की एक हजार मीटर सी-1 व्यक्तिगत स्पर्धा में अकादमी की खिलाड़ी मीरा दास ने 5.15.64 मिनिट का समय लेते हुए रैस पूरी की और स्वर्ण पदक हासिल किया। सब जूनियर के-2 ईवेंट मे अकादमी के खिलाड़ी बलवीर जाट ने 3.50.82 मिनिट के समय मे रैस पूर्ण कर स्वर्ण पदक जीता। के-4 जूनियर मेन्स ईवेंट मे अकादमी के खिलाड़ी अजातशत्रु और यशपाल बुंदेला ने 3.22.23 मिनिट के समय में रैस पूरी कर मध्यप्रदेश को स्वर्ण पदक दिलाया। इसी प्रकार वूमेन सी-4 इवेंट में अकादमी की खिलाड़ी नमिता चंदेल और राजेश्वरी कुशराम ने 4.26.32 मिनिट में रैस पूरी कर स्वर्ण पदक हासिल किया। के-4 जूनियर मेन्स इवेंट में अकादमी के खिलाड़ी बलवीर जाट ने 3.29.73 मिनिट का समय लेकर स्वर्ण पदक अर्जित किया। इसी तरह के-4 वूमेन इवेंट में अकादमी की खिलाड़ी जीना देवी ने 3.52.84 मिनिट के समय में रेस पूरी कर स्वर्ण पदक मध्यप्रदेश को दिलाया।
राष्ट्रीय केनो स्प्रिंट चैम्पियनशिप में खेले गए सब जूनियर के-1 वूमेन मुकाबले में सविता यादव (5.13.05) ने रजत पदक जीता। इसी तरह बालक वर्ग के आज खेले गए के-1 मुकाबले में अकादमी के खिलाड़ी प्रोहित बरोई (3.57.98) ने रजत पदक अर्जित किया। जूनियर मेन्स सी-2 इवेंट में अकादमी के खिलाड़ी सुदर्शन बिश्नोई (4.06.83) ने रजत पदक जीता। इसी तरह बालक वर्ग की के-4 स्पर्धा में अकादमी के खिलाड़ी प्रोहित बरोई और अजातशत्रु (3.25.50) ने रजत पदक मध्यप्रदेश को दिलाया।