DSYWMP News and Events

समर कैम्प का समापन – समर कैम्प में चयनित 120 प्रतिभावान खिलाड़ी बच्चों को मिली एक वर्ष की निःशुल्क सदस्यता

समर कैम्प

समर कैम्प

महापौर श्री शर्मा ने किया खिलाड़ी बच्चों को पुरुस्कृत

नगर निगम भोपाल के महापौर श्री आलोक शर्मा के मुख्य आतिथ्य में आज टी.टी. नगर स्टेडियम में दो माह से चल रहे ग्रीष्म कालीन खेल प्रशिक्षण शिविर (समर कैम्प) का समापन हुआ। समापन समारोह में महापौर श्री शर्मा और संचालक खेल और युवा कल्याण डॉ. एस. एल. थाउसेन ने उत्कृष्ट खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों को ट्राफी प्रदान कर सम्मानित किया।
इस अवसर पर हाॅकी के मुख्य प्रशिक्षक एवं अर्जुन अवार्डी श्री एम.के. कौशिक, वाटर स्पोर्ट्स सेलिंग के मुख्य प्रशिक्षक एवं अर्जुन अवार्डी श्री जी.एल. यादव, संयुक्त संचालक खेल डाँ. विनोद प्रधान एवं श्री बी.एस. यादव एवं श्री सत्यार्थ अग्रवाल सहित अन्य जनप्रतिनिधि, बच्चों के अभिभावक और बड़ी संख्या में खिलाड़ी बच्चे मौजूद थे।
कार्यक्रम मे खिलाड़ी बच्चों द्वारा एरोबिक, जिम्नास्टिक और फुटबाॅल का आकर्षक प्रदर्शन किया गया तथा समर कैम्प में बच्चों की खेल गतिविधियों पर केन्द्रित फिल्म का भी प्रदर्शन किया गया।
समापन समारोह को संबोधित करते हुए महापौर श्री आलोक शर्मा ने बच्चों को खेलों के लिये प्रोत्साहित करते हुए कहा कि हमारे जीवन में खेलों का बहुत महत्व है। साल भर पढ़ाई करने के बाद बच्चों को गर्मी की छुट्टियों में समर कैंप का इंतजार रहता है। उन्होंने कहा कि समर कैम्प के दौरान बच्चों में छुपी प्रतिभा को निखारने में खेल विभाग का महत्वपूर्ण योगदान है। महापौर श्री शर्मा ने बच्चों के अभिभावकों को धन्यवाद देते हुए कहा कि समर कैम्प के दौरान बच्चों को प्रतिदिन खेल की बारिकियां सिखाने में अभिभावकों ने अहम भूमिका निभाई। महापौर श्री शर्मा ने साफ-सफाई का महत्व रेखांकित करते हुए बच्चों को स्वच्छता के लिए प्रेरित किया।

समर कैम्प

समर कैम्प

समर कैम्प
संचालक खेल और युवा कल्याण डाँ. एस.एल. थाउसेन ने बताया कि 20 अप्रैल, 2018 से प्रारंभ समर कैम्प के माध्यम से साढे चार हजार से अधिक बच्चों को बास्केटबाल, बैडमिंटन, कराते, टेनिस, फुटबाल, मल्लखम्ब, बाॅक्सिंग, चेस बाक्सिंग, स्केटिंग, एथलेटिक्स, कबड्डी, जिमनास्टिक, व्हाॅलीबाल, एरोबिक्स और बिलियर्ड-स्नूकर खेलों में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि दो माह तक चले इस समर कैंप के दौरान विभिन्न खेलों में 120 प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान की गई जिन्हें पुरुस्कार स्वरूप एक वर्ष की निःशुल्क सदस्यता प्रदान की जा रही है। चयनित इन खिलाड़ी बच्चों में स्केटिंग, टेनिस, व्हाॅलीबाल और एथलेटिक्स के 12-12, फुटबाल के 20, बैडमिंटन के 10, कबड्डी के 24, जिम्नास्टिक के 6, बाॅस्केटबाल के 16 तथा कराते के 10 खिलाड़ी बच्चे शामिल हैं। खेल संचालक डाँ. थाउसेन ने खेल अधोसंरचनाओं के विकास हेतु स्मार्ट सिटी के लिए प्रस्तावित भूमि में से खेल विभाग के आसपास की भूमि को खेल विभाग के लिये आरक्षित करने का महापौर श्री आलोक शर्मा से अनुरोध किया।

यह खिलाड़ी हुए पुरस्कृत
टेनिस- मोहित चंदेल, कु. इशिका बलावत, बाॅक्सिंग- लोकेश पाल, कु. निशा सखवार, चैस बाॅक्सिंग- अंशुल मेहरा, कु. ममता विश्वकर्मा, फुटबाल- रूनवाह हसन, मिर्जा बैग, कराते- श्वेता कुमारी, अजय यादव, कबड्डी- स्मिता रानी, गणेश भारती, बेडमिंटन- ओम सोनी, अदिति पाली, स्केटिंग- खुशी श्रीवास्तव, मानस पटेल, व्हाॅलीबाल- चारू जोशी, महिमा शर्मा, जिम्नास्टिक- पायल पैमाने, आसिफ शाह, मल्लखम्ब- युवराज राव घाडगे, जोशुआ गुप्ता, बास्केटबाॅल- आकाश रौशनी, देव यादव, एथलेटिक्स- समर्थ गुप्ता, हर्षिता क्षेत्रीय, एरोबिक- कपिल, तरूण, शुमायला खान, अभिषेक, कल्पना, स्वेच्छा प्रकाश तथा बिलियड्र्स स्नूकर- सौम्या ठाकुर, पावनी खराड़कर शामिल है।

उल्लेखनीय है कि समर कैम्प में इस वर्ष 6 से 10 वर्ष तक की आयु वर्ग के बच्चों के लिए यू.एस.ए. की तर्ज पर ‘‘कैच’’ (क्वाडिनेटिव्ह एप्रोच टुवर्ड्स चाइल्ड हेल्थ) कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों को स्पेशल ट्रेनिंग दी गई।