DSYWMP News and Events

बोर्डिंग एवं डे-बोर्डिंग खिलाड़ियों के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

खेल संचालक डॉ. थाउसेन ने खिलाड़ियों को दिया मार्गदर्शन

नए खिलाड़ियों के वेलकम के लिए होगा सांस्कृतिक संध्या का आयोजन

भोपाल: 13 जुलाई, 2019

खेल और युवा कल्याण विभाग द्वारा संचालित विभिन्न खेल अकादमियों में  बोर्डिंग एवं डे बोर्डिंग योजना के अंतर्गत प्रवेशित खिलाड़ियों के लिए टी. टी. नगर स्टेडियम में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। स्टेडियम स्थित मार्शल आर्ट हॉल और ऑडियो वीजुअल हॉल में दो सत्रों में आयोजित कार्यशाला में खिलाड़ियों को संचालक खेल और युवा कल्याण डॉ. एस. एल. थाउसेन  सहित अन्य विषय विशेषज्ञों द्वारा मार्गदर्शन प्रदान किया गया। 

अनुशासन में रहे खिलाड़ी
कार्यशाला को संबोधित करते हुए संचालक खेल और युवा कल्याण डॉ. एस. एल. थाउसेन ने खिलाड़ियों से कहा कि वे जिस लक्ष्य को लेकर यहां आए हैं उसे पूरा करने के लिए खूब परिश्रम करें। उन्होंने खिलाड़ियों से कहा कि वे सीनियर खिलाड़ियों के साथ अपने प्रशिक्षक से आगामी प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन के लिए की जाने वाली तैयारी पर फोकस करें। उन्होंने सभी खिलाड़ियों को खेल परिसर में स्वच्छता बनाए रखने की सीख देते हुए कहा कि कैंपस की साफ सफाई बनाए रखने में खिलाड़ी आगे बढ़कर सहयोग करें। साथ ही पढ़ाई पर भी विशेष ध्यान रखें ताकि खेल के साथ-साथ पढ़ाई में भी अव्वल रहे। खेल संचालक ने बताया कि आगामी वर्ष में खिलाड़ियों की आवास और भोजन व्यवस्था को और भी अधिक सुदृढ़ बनाया जाएगा। उन्होंने सीनियर खिलाड़ियों से कहा कि वे प्रवेशित नये खिलाड़ियों को हर संभव सहयोग करें। खेल संचालक ने बताया कि सभी खिलाड़ियों के वेलकम हेतु शीघ्र ही एक सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन किया जाएगा।
कार्यशाला में स्पोर्ट्स साइंस सेंटर के विभागाध्यक्ष डॉ. जिन्स थॉमस मैथ्यू ने फिटनेस ट्रेनिंग, स्पोर्ट्स साइंस, स्पोर्ट्स इंन्जयूरी मैनेजमेंट आदि के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी दी। श्रुति शर्मा ने खेल मनोविज्ञान, सहायक संचालक श्री प्रदीप रावत ने बोर्डिंग खिलाड़ियों की नवीन व्यवस्था डॉक्टर शिप्रा श्रीवास्तव ने हॉस्टल संबंधी व्यवस्था,  डॉ. के. के. खरे ने खिलाड़ियों के अनुशासन तथा सुश्री उमा पटेल ने स्वास्थ्य बीमा और खिलाड़ियों के मध्य बेहतर सामंजस्य के संबंध में विस्तार से मार्गदर्शन प्रदान किया। कार्यशाला में सभी खेल प्रशिक्षक भी मौजूद थे।
गौरतलब है कि नवीन सत्र में कुल 603 खिलाड़ियों का पंजीयन हुआ है, जिसमें बोर्डिंग के 464 और डे-बोर्डिंग के 139 खिलाड़ी शामिल है।