DSYWMP News and Events

जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता का समापन – अकादमी के खिलाड़ी सागर तिवारी ने अंतिम दिन जीते दो कांस्य पदक

राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता में अकादमी के खिलाड़ियों के 24 और मध्य भारत भारत घुडसवारी चैम्पियनशिप में 41 पदक
दो ग्रुप में मध्यप्रदेश रहा चैम्पियन

खेल और युवा कल्याण विभाग द्वारा संचालित मध्यप्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी में 22 दिसंबर, 2017 से प्रारंभ जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता एवं मध्य भारत घुड़सवारी चैम्पियनशिप का आज समापन हुआ।

प्रतियोगिता के अंतर्गत आज दो किलोमीटर क्राॅस कन्ट्री रैस यंग रायडर का फायनल मुकाबला खेला गया। इस रोमांचक मुकाबले में घुड़सवारों ने प्रतिभा का शानदार प्रदर्शन किया जो आकर्षण का केंद्र बना। अकादमी के खिलाड़ी सागर तिवारी ने जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता और मध्य भारत चैम्पियनशिप की यंग राइडर व्यक्तिगत स्पर्धा में एक-एक कांस्य पदक अर्जित किया। इन दो कांस्य पदकों को मिलाकर प्रतियोगिता में अकादमी के खिलाड़ियों द्वारा अर्जित पदकों की कुल संख्या 65 हो गई। इनमें जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता के 24 और मध्य भारत घुड़सवारी चैम्पियनशिप के 41 पदक शामिल हैं। राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता में कुल 72 पदक दांव पर थे जिसमें से एक तिहाई पदक अकादमी के खिलाड़ियों ने जीते। घुड़सवारी अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक कैप्टन भागीरथ ने बताया कि चार ग्रुप के ओवर ऑल चैम्पियन मे से दो ग्रुप में मध्यप्रदेश ओवरऑल चैम्पियन रहा है।
जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता और मध्यभारत घुड़सवारी चैम्पियनशिप यंग राइडर व्यक्तिगत स्पर्धा में आईआरएस के खिलाड़ी बालाजी बी. प्रथम, यूआरवी के रोहित मेहता द्वितीय और अकादमी के खिलाड़ी सागर तिवारी तृतीय स्थान पर रहे। बालाजी वी. ने रिकॉर्डो अश्व पर प्रदर्शन करते हुए दो स्वर्ण, रोहित मेहता ने अपने अश्व ब्रुकनर पर शानदार प्रदर्शन करते हुए दो रजत और अकादमी के खिलाड़ी सागर तिवारी ने प्रताप अश्व पर प्रदर्शन करते हुए दो कांस्य पदक जीते।
जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता के अंतिम दिन आज यंग रायडर क्रॉस कंट्री रेस के फाइनल मुकाबले के टीम इवेंट में आरबीसी-सी टीम ने स्वर्ण पदक आरवीसी-4 टीम ने रजत और आरबीसी-बी टीम ने कांस्य पदक अर्जित किया। एनडीए की टीम के खिलाड़ी चैथे स्थान पर रहे।
इसी तरह मध्य भारत घुड़सवारी चैम्पियनशिप में भी उक्त टीमों ने ही प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान हासिल कर क्रमशः स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक अर्जित किया।